रविवार, 9 अगस्त 2009

ब्लागिंग क्यों ?


चिट्ठाजगत अधिकृत कड़ी

काफी समय से ब्लागों के चक्कर लगाने के बाद ब्लाग बनाने की सूझी। एक ब्लाग बनाया ,पर निर्णय नहीं कर पाया कि क्या डालूँ ,कुछ गम्भीर और उपदेश टाइप की बातें या कुछ हल्की-फ़ुल्की चर्चा या कुछ कवितायें वगैरह।फिर सोचा कि ब्लागिंग क्यों?मेरे ब्लाग के बिना हिन्दी ब्लागिंग का भविष्य अंधकारमय है या मानव जाति के हित मे मेरा ब्लाग लिखना आवश्यक है ,ऐसा कोई रिक्वेस्ट भी अभी तक नहीं मिला है ।अन्तत: समझ मे आया कि ये पहचान की खोज है तथा छपास नामक गम्भीर रोग के लिये आसानी से उपलब्ध औषधि है।इससे ब्लागर को संतुष्टि मिलती है कि समाज के हित हेतु मैने अपना अनमोल विचार प्रस्तुत कर दिया है,अब समाज को चाहिए कि इससे फ़ायदा उठाकर अपना उत्थान करे।अब नासमझ लोग इसका फ़ायदा ना उठा पायें इस में ब्लागर की क्या गलती। समाज के प्रति अपने इस महती कर्तव्य को पूर्ण करने के पश्चात ब्लागर को एक अनिर्वचनीय सुख की प्राप्ति होती है जिसे लगभग ब्रह्मानन्द के आसपास रखा जा सकता है।इसी सुख से प्रेरित होकर ही मैनें इस ब्लाग का शीर्षक "स्वांत: सुखाय " रखा है।अब लोग इसे पढ़कर सुख का अनुभव करें या न करें ,मैनें तो ब्लागिंग चालू कर दी है भईया।

13 टिप्‍पणियां:

  1. Pathakon se ek samvaad ho tabhee lekhan me arth hai...chahe wo blog pe ho ya kitabon ke zariye!

    http://shamasansmaran.blogspot.com

    http://kavitasbyshama.blogspot.com

    http://shama-baagwaanee.blogspot.com

    http://shama-kahanee.blogspot.com

    http://aajtakyahantak-thelightbyalonelypath.blogspot.com

    उत्तर देंहटाएं
  2. बस, स्वान्तः सुखाय लिखते रहिए, रचनाएं आती जाएंगी:)

    उत्तर देंहटाएं
  3. agrashar rahiye parinaam bhi achchha milega .badhai ho is naye kadam ke vaste .

    उत्तर देंहटाएं
  4. जो भी सूझी अच्छी सूझी ।
    हिन्दी ब्लोगिंग में गीता के उपदेश के अनुसार सिर्फ़ ब्लोग पोस्ट लिखते रहना चाहिये, बाकी किसी भी चीज जैसे पाठक टिप्पणी वगैरह के मोह में नहीं पडना चाहिये । यही एक सफ़ल ब्लॉगर के लक्षण हैं । ऐसे ब्लॉगर जल्द ही स्थितिप्रग्य स्थिति को प्राप्त होते हैं ।

    शुभकामनायें !

    उत्तर देंहटाएं
  5. Bahut Barhia...swagat hai... isi tarah likhte rahiye...

    http://hellomithilaa.blogspot.com
    Mithilak Gap...Maithili Me

    http://muskuraahat.blogspot.com
    Aapke Bheje Photo

    http://mastgaane.blogspot.com
    Manpasand Gaane

    उत्तर देंहटाएं

  6. आगामी रचनाओं की प्रतीक्षा है ।

    उत्तर देंहटाएं
  7. चिट्ठाजगत में आपका स्वागत है.......भविष्य के लिये ढेर सारी शुभकामनायें.

    गुलमोहर का फूल

    उत्तर देंहटाएं
  8. बहुत सुंदर…..आपके इस सुंदर से चिटठे के साथ आपका ब्‍लाग जगत में स्‍वागत है…..आशा है , आप अपनी प्रतिभा से हिन्‍दी चिटठा जगत को समृद्ध करने और हिन्‍दी पाठको को ज्ञान बांटने के साथ साथ खुद भी सफलता प्राप्‍त करेंगे …..हमारी शुभकामनाएं आपके साथ हैं।

    उत्तर देंहटाएं
  9. बहुत सुन्दर लिखा है जी आपने
    अर्कजेश जी कि टिप्पणी को दोबारा पढ लीजियेगा
    आगामी चिट्ठियों का इन्तजार रहेगा

    प्रणाम

    उत्तर देंहटाएं